बेटे के टीचर ने की चुदाई

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करती हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | मैं अपना नाम बता देती हूँ आप लोगो को मेरा नाम रानी है | मैं रहने वाली बरेली की हूँ | मेरी उम्र 28 साल है | मैंने दिखने में अभी भी मस्त लगती हूँ | मेरे बूब्स काफी बड़े हैं और मेरी गांड बड़ी चोडी है | मेरी शादी के 2 साल बाद मेरे पति की एक हादसे में मौत हो गयी थी और मेरा एक लड़का है जो अभी 4 में पढ़ता है | तब से मेरी चूत लंड से नही चुदी है | मुझे चुदाई करवानी बहुत अच्छा लगता है और मैं बहुत अरसे से नहीं चुदी थी | मैं अक्सर सेक्सी कहानियाँ पढ़ कर अपनी चूत में ऊँगली डाल कर अपनी चूत में अन्दर बाहर करते हुए अपनी चूत का पानी निकाल दिया करती हूँ | मुझे सेक्सी कहानी पढ़-पढ़ कर लिखने का भी मन करता था | वो मेरी इच्छा आज पूरी हो रही है | मैं जो ये कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरे जीवन की सच्ची घटना है | ये मेरी पहली कहानी है तो इस कहानी में आप लोगो को गलती भी नज़र आएँगी अगर आप लोगो को गलती नज़र आये तो मुझे माफ़ करना | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेती हुई सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है | जब मैं अपने बेटे को उसके स्कूल को छोड़ने जाती थी | मेरा बेटे के क्लास टीचर जिनका नाम सिवा था | वो दिखने में अच्छे थे और उनकी शादी नही हुई थी | जब मैं अपने बेटे को छोड़ने जाती थी तो वो मुझे बाते भी किया करते थे | मैं भी उन्हें पसंद करती थी | धीरे धीरे उनसे ज्यादा ही बात करने लगी थी | अब वो मेरे घर भी आने लगे थे | जब वो मेरे घर आते थे तो मैं उन्हें चाय देने के लिए झुकती तो मेरे बूब्स देखने लगते तो वो मेरे बूब्स को देखने लगते थे | क्यकी में घर में ब्रा नहीं पहनती थी | एक दिन की बात है मुझे रूपये निकालने बैंक जाना था | तब मैंने उनसे कहा सर अगर खाली होतो मेरे साथ बैंक तक चलाना था | फिर वो मुझे बाइक पर बैठा कर ले जा रहे थे | तब वो बार बार ब्रेक लगा रहे थे जिससे मेरे बूब्स उनके टाच होते और आने के टाइम भी ऐसा ही कर रहे थे जिससे मेरी चूत गीली हो गयी थी |

मैं जेसे ही घर आई और बाइक से नीचे उतर कर मैं अपने कमरे में चली गयी | फिर वहां मैंने पेंटी निकाल कर अपनी चूत में ऊँगली डाल कर अन्दर बाहर करने लगी साथ में से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करने लगी | मुझे लगा की सर चले गए हैं पर वो अभी मेरे घर ही थे | वो ये आवाज सुन कर मेरे कमरे में आ गए और मुझे ये करते देखकर उनका लंड खड़ा हो गया | वो आकर मेरी होठो पर अपने होठो रख कर चूसने लगे और साथ में मेरी चूत को सहलाने लगे | फिर वो मेरे बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगे | तो मैं से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अहह करने लगी | फिर वो मेरे कपडे भी उतार दिए जिससे में ब्रा में थी | वो मेरे बूब्स को दबाते हुए मेरी नर भी खोल दी और मेरे एक दूध को अपने मुंह में लेकर चूसने लगे जिससे मेरे मुंह से से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरे एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था और एक को हाथ से दबा रहा था | तो मेरे मुंह से से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करती हुई अपनि चूत को सहला रही थी |

वो मेरे बूब्स को एक एक करके चूस रहा था मैं अपनी चूत को सहलाती हुई से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह्ह कर रही थी | वो मेरे बूब्स को चूसने के बाद मेरी तब्गो को थोडा सा फेला कर मेरी चूत में अपना मुंह घुसा कर मेरी चूत को चाटने लगा | तो मेरे मुंह से से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह की सिसिकियाँ निकल गयी | वो मेरी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर कर रहा था | मैं उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह अह्ह्ह करती हुई अपने बूब्स को मसल रही थी | वो मेरी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी और अपनी ऊँगली को मेरी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करने लागा | मैं उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ करती हुई अपने बूब्स को मसल रही थी | वो मेरी चूत को अपनी ऊँगली से चोद रहा था | वो ऊँगली को अन्दर बाहर करते हुए मेरी चूत को चाट रहा था | मैं उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करती हुई मछली की तरह तडफ रही थी | फिर उसने अपने कपड़े उतार दिए और मैं उसके लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी | तो वो से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करने लगा | मैं उसके लंड को अपने मुंह में रख कर अन्दर बाहर करते हुए चूसने लगी | वो से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करते हुए मेरे मुंह में धीरे धीरे धक्के मारने लगा | वो मेरे मुंह को चोदने लगा | कुछ देर तक वो ऐसे ही करता रहा | फिर मेरी टांगो को थोडा सा फेला कर मेरी चूत के मुंह पर अपने लंड को रख कर मेरी चूत में लंड को घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा | तो मैं से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह ह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह उह्ह उफ्फ्फ उह्ह अहह करती हुई चुदने लगी |

मेरी चूत में जोरदार धक्को के साथ मेरी चूत को चुदने लगी | वो मेरी चूत में जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए मेरी चूत को चोदने लगा | मैं मस्त होकर से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करने लगी | फिर उसने धक्को की स्पीड तेज कर दी और जोदार धक्को के साथ मुझको चोदने लगा | मैं से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह करती हुई अपनी चूत को सहला रही थी | वो मेरी चूत में अन्दर बाहर करते हुए चुद रहा था | उसके बाद वो बेड पर लेट गया और मैं उसके लंड पर बैठ कर अपने आप चुदने लगी | मैं उसके लंड पर बैठ कर ऊपर नीचे होती हुई चुदने लगी साथ में से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करती हुई चुदने लगी | मैं उसके लंड पर बैठ कर चुदती रही और वो मेरे नीचे से चूत में धक्के मारने लगा जिससे कमरे में धक्को की आवाज घुजने लगी | मैं से उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह अहह अफ्फफ्फ्फ़ फ्फ्फ ऊऊउ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह करती हुई लंड पर बैठ कर चुद रही थी | फिर उसने मुझे जामीन पर घोड़ी बनने को कहा और मैं घोड़ी बन गयी | फिर वो मेरी चूत में पीछे से लंड को डाल कर जोरदार धक्को के साथ मेरी चूत को चुदने लगे | इस तरह से 40 मिनट की मस्त चुदाई के बाद उनके लंड ने मेरी गांड पर माल निकाल दिया | अब हमे जब भी टाइम मिलता है | तब मैं सिवा से चुदती हूँ |

ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करती हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आई होगी | कहानी पढने के लिए धन्यवाद |

Leave a Reply

Your email address will not be published.