उसका बदन जैसे किसी परी का बदन हो

Antarvasna, desi kahani: मैं और संजय हम दोनों उस दिन लंच टाइम में साथ में ही बैठे हुए थे संजय मुझे कहने लगा कि सुधीर मैं कुछ दिनों के लिए अपने घर जा रहा हूं तो मैंने संजय से कहा कि क्या भाभी भी तुम्हारे साथ घर जा रही हैं तो वह मुझे कहने लगा कि हां वह भी मेरे साथ घर जा रही है। संजय का घर जयपुर में है मैंने संजय से पूछा कि क्या कुछ जरूरी काम से तुम घर जा रहे हो तो संजय मुझे कहने लगा कि सुधीर काफी समय हो चुका है जब मां और पापा से नहीं मिला हूं तो सोचा कि कुछ दिनों के लिए घर हो आता हूं और बच्चों की भी स्कूल की छुट्टियां पड़ी हुई हैं। मैंने संजय से कहा संजय यह तो बहुत अच्छा है अगर तुम अपने घर जा रहे हो तो। मैं और संजय लंच खत्म करने के बाद ऑफिस में अपना काम करने लगे, ऑफिस में काम करते हुए कुछ ज्यादा देर हो गई थी इसलिए मुझे रचना फोन कर रही थी रचना ने मुझे कहा कि सुधीर आप घर कब तक आओगे।

मैंने रचना को कहा कि मुझे घर आने में थोड़ा समय लग जाएगा, उस दिन मैं घर देरी से पहुंचा रचना मेरा इंतजार कर रही थी पापा भी अपने ऑफिस से लौट चुके थे। पापा मुझे कहने लगे कि सुधीर आज तुम काफी देरी से आ रहे हो मैंने पापा से कहा हां पापा आज ऑफिस में ज्यादा काम था इसलिए घर आने में देर हो गई। रचना कहने लगी कि सुधीर आप जल्दी से खाने के लिए आ जाइए हम लोग आपका इंतजार कर रहे हैं। मैं अपने रूम में गया और कपड़े चेंज करने के बाद में खाने की टेबल पर आया और हम लोगों ने साथ में खाना खाया, खाना खाने के बाद रचना और मैं रात के वक्त एक दूसरे से बात कर रहे थे तो रचना ने मुझे कहा कि सुधीर कुछ दिनों के लिए मैं अपने मायके जाना चाहती हूं। मैंने रचना से कहा कि रचना तुम चली जाओ तुम्हें मुझसे पूछने की क्या जरूरत है तो रचना कहने लगी कि सुधीर आपसे पूछना तो जरूरी है मैंने सोचा कि आपसे इस बारे में पूछ लेती हूं।

मैंने रचना को कहा कि तुम अपने मायके चली जाओ रचना मुझे कहने लगी कि भैया और भाभी भी घर आए हुए हैं इसलिए सोच रही थी कि उनसे भी मिल लूं। रचना के भैया और भाभी दोनों ही विदेश में रहते हैं वह दोनों ही नौकरी करते हैं और काफी समय बाद वह लोग घर आए थे इसलिए रचना चाहती थी कि वह उनसे मिलने के लिए जाए। रचना अपने मायके चली गई थी रचना जब अपने मायके गई तो उसने मुझे फोन किया और कहा कि सुधीर मैं आपको यह बताना भूल गई थी कि आपको एक कोरियर आया था मैंने रचना से कहा कि ठीक है मैं देख लेता हूं। रचना ने मुझे बताया कि उसने वह कोरियर अलमारी में रख दिया है मैंने जब अलमारी खोली तो मैंने देखा उसमें लिफाफे का एक पैकेट था काफी समय पहले मैंने एक कंपनी में नौकरी के लिए अप्लाई किया था मैंने जब उसे खोला तो वह उसी का जोइनिंग लेटर था। मैंने जब अपने मेल बॉक्स में चेक किया तो मेरी मेल बॉक्स में भी उन्होंने मुझे मेल किया हुआ था लेकिन मैंने उसे देखा नहीं था। जब मैंने अगले दिन उस नंबर पर फोन किया तो मैंने उन्हें कहा कि सर मुझे काफी समय बाद आपका लेटर मिला है इसलिए मैं ऑफिस ज्वाइन नहीं कर पाया हूं। मैं जिस ऑफिस में काम कर रहा था उस ऑफिस में मैं अभी भी काम कर रहा था संजय भी कुछ समय बाद वापस लौट चुका था और एक दिन संजय ने मुझे कहा कि तुम और रचना हमारे घर पर डिनर के लिए आना। मैंने संजय से  कहा कि ठीक है संजय हम लोग तुम्हारे घर पर जरूर आएंगे और कुछ दिन बाद मैं और रचना उनके घर पर डिनर के लिए चले गए। हम लोगों को काफी अच्छा लगा और उसके बाद हम लोग वहां से जब घर लौटे तो रचना उनकी बड़ी तारीफ कर रही थी वह कहने लगी कि संजय और उसकी पत्नी बहुत ही अच्छे हैं। हम लोग हम घर पहुंच चुके थे और उस दिन मुझे नींद ही नहीं आ रही थी मैं अपने घर के टेरेस पर टहलने के लिए चला गया मैंने अपनी जेब से सिगरेट निकाली और सिगरेट पीने लगा। अगले दिन मेरी छुट्टी थी थोड़ी देर बाद रचना भी आ गई रचना मुझे कहने लगी कि सुधीर तुम यहां क्या कर रहे हो मैं तुम्हें इधर उधर देख रही थी लेकिन तुम मुझे कहीं दिखे ही नहीं मैंने तुम्हें फोन भी किया मैं तो घबरा गई थी।

मैंने रचना को कहा रचना मुझे नींद नहीं आ रही थी तो सोचा ऐसे ही टेरेस पर टहल लेता हूं कुछ देर तक रचना मेरे साथ रही और फिर वह कहने लगी मुझे तो काफी नींद आ रही है मैं नीचे जा रही हूं। रचना सोने चली गई और मैं वहीं बैठा हुआ था। मैंने देखा कि एक लड़की टेरेस पर आ गई है वह बड़ी ही हॉट और सेक्सी थी मैंने उसे पहले भी एक दो बार अपनी बिल्डिंग में देखा था लेकिन उससे मैंने कभी बात नहीं की थी। जब वह मेरे पास आई तो उसने मुझसे कहा क्या आपके पास लाइटर है? मैंने उसे लाइटर दिया उसने अपनी सिगरेट जलाते हुए मुझसे कहा मैंने आपको यहां पहले भी देखा है। मैंने उसे कहा क्या तुम यहां कुछ दिनों पहले की रहने आई हो? वह मुझे कहने लगी हां मैं कुछ दिनों पहले ही यहां रहने आई हूं। उसने मुझे अपना नाम बताया उसका नाम सुमोना है मैंने पूछा तुम इतनी रात को कहां से आ रही हो। उसने मुझे बताया कि वह अपने फ्रेंड की पार्टी से आ रही है हम दोनों साथ में ही थे और काफी देर तक हम लोग बात करते रहे। मुझे उसे देखकर उसकी चूत मारने का मन करने लगा था वह भी मुझसे अपनी चूत मरवाने के लिए बेताब लग रही थी। मैंने उसके बदन को अपनी बांहो मे लेने की कोशिश की तो वह मेरी बाहों में आ गई मैंने जब उसकी गांड को दबाना शुरू किया तो वह खुश हो गई उसके चेहरे पर एक अलग ही खुशी थी। मेरे हाथ में जैसे कोई कीमती चीज लग गई थी मेरे लिए यह खुशी की बात थी। मैंने उसकी गांड को बहुत देर तक दबाया और उसके होंठों को भी चूम लिया वह मेरी बाहों में आ चुकी थी मैंने उसकी गांड को बड़ी देर तक दबाया जिसके बाद वह मुझे कहने लगी अब मुझसे नहीं रहा जा रहा है।

मैंने उसे नीचे लेटा दिया और उसके बदन को महसूस करना शुरू किया तो वह मुझे कहने लगी मुझे तुम्हारे लंड को अपने मुंह में लेना है। मैंने उसे कहा तुम मेरे लंड को अपने मुंह में ले लो मैंने जब अपने लंड को बाहर निकाला तो उसने अपने हाथों में लेकर हिलाना शुरु किया और काफी देर तक उसने ऐसा ही किया। उसके बाद तो जैसे वह बहुत उत्तेजीत हो गई वह अपने आपको रोक नहीं पाई और उसने अपने मुंह के अंदर मेरे लंड को लेकर बड़े अच्छे से चूसना शुरू किया और मुझे भी बहुत ज्यादा मजा आने लगा। मुझे इतना ज्यादा मजा आ रहा था कि मैं उसे कहने लगा तुम ऐसे ही मेरे लंड को सकिंग करती रहो उसने काफी देर तक ऐसा ही किया लेकिन जब मैंने अपने लंड पर थूक लगाया तो उसने मुझे कहा तुम मेरी चूत के अंदर लंड को डाल दो। मैंने उसकी चूत पर देखा तो मुझे उसकी चूत को चाटने का मन हुआ मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू किया तो मुझे बहुत मजा आने लगा और उसे भी बड़ा अच्छा लग रहा था। वह अपने पैरों के बीच में मुझे जकडने की कोशिश कर रही थी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था। मैंने उसे कहा मुझे तुम्हारी चूत चाटकर मजा आ गया। वह खुश हो गई थी और थोड़ी देर बाद उसने जब लंड अपनी चूत में लेने के बात कहीं तो मैंने अपने लंड को उसकी योनि में सटाया और अंदर की तरफ डालना शुरू किया। मेरा लंड उसकी योनि के अंदर चला गया जब मेरा मोटा लंड उसकी योनि के अंदर प्रवेश हुआ तो वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही मजा आ रहा है।

मैंने उसे कहा मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा है यह कहते हुए मैंने उसकी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को करना शुरू किया जिसके बाद हम दोनों अपने आपको बिल्कुल भी नहीं रोक पा रहे थे और मैं उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रखकर उसकी चूत में बड़ी तेजी से धक्का मारता। जिस से कि वह बहुत जोर से चिल्ला दिया करती और मुझे कहती तुम मुझे ऐसे चोदते रहो मैंने उसे कहा वाकई में तुम बड़ी कमाल की हो। वह कहने लगी मैंने सोचा भी नहीं था कि मैं तुम्हारे साथ सेक्स करूगी लेकिन मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करने में बहुत अच्छा लग रहा है। हम दोनों एक दूसरे की बांहों थे और एक-दूसरे के साथ सेक्स करने में इतना खो चुके थे कि हमें बहुत ही मजा आ रहा था। मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसकी चूत के अंदर धीरे धीरे मेरा मोटा लंड घुस गया वह चिल्लाने लगी लेकिन उसे मज़ा आने लगा था वह मुझे कहने लगेई मुझे और भी तेजी से धक्के मारो। मैंने अपनी पूरी ताकत के साथ उसे चोदना शुरू कर दिया था जिससे कि वह जोर से चिल्लाती है और कहती मुझे बहुत अच्छा लग रहा है।

मैंने उसे काफी देर तक चोदा जब मेरी इच्छा पूरी होने लगी तो मैंने उसे कहा अब मैं ज्यादा देर तक नहीं रह पाऊंगा। वह कहने लगी मैं अपने आपको शायद नहीं रोक पाऊंगी उसने अपने पैरो को आपस मे मिलाना शुरू कर दिया था जिससे कि मुझे उसकी चूत ज्यादा ही टाइट महसूस होने लगा था। मैंने अपने वीर्य को उसकी योनि में गिरा दिया उसके बाद हम दोनों साथ में बैठे रहे। रात काफी हो चुकी थी इसलिए उसने मुझे कहा मुझे नींद आ रही है अब मैं सोने जा रही हूं। मैं भी घर पर चला आया लेकिन जब भी मुझे सुमोना कि जरूरत होती तो हम दोनों टेरेस पर मिला करते और हम दोनों वहीं पर सेक्स का मजा लेते। मेरे लिए सुमनो को चोदना किसी सपने के सच होने जैसी है क्योंकि उसका शरीर बड़ा ही लाजवाब है और मुझे उसे देखकर बहुत ही अच्छा लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.