रात भर चूत चुदाई का खेल चलता रहा

Antarvasna, desi kahani: काफी सालों बाद मुझे अविनाश का फोन आया अविनाश से मेरी 3 वर्षों बाद फोन पर बात हो रही थी क्योंकि अविनाश इंग्लैंड में जॉब करता था इसलिए वह घर कम ही आया करता था। जब अविनाश ने मुझे फोन किया तो उसने मुझे कहा कि रोहन तुम कहां हो मैंने उसे कहा कि मैं तो अभी ऑफिस में हूं अविनाश ने मुझे बताया कि वह घर आया हुआ है। मैंने अविनाश को कहा मैं तुमसे आज शाम के वक्त मुलाकात करता हूं अविनाश कहने लगा कि ठीक है तुम मुझसे शाम को मिलना। मैं ऑफिस से अपना काम खत्म करके शाम के वक्त जब अविनाश को मिलने के लिए उसके घर गया तो अविनाश से इतने सालों बाद मिलकर मुझे बहुत खुशी हो रही थी। मैंने अविनाश को कहा तुमने मुझे कितने सालों बाद फोन किया और तुमसे तो मेरी इस बीच कोई बात भी नहीं हुई तो तुमने मेरा नंबर कहां से लिया। अविनाश ने मुझे बताया कि उसने मेरा नंबर मेरी दीदी से लिया मेरी दीदी जो कि इंग्लैंड में ही रहती हैं।

अविनाश से मैंने कहा चलो कम से कम तुम्हें मेरी याद तो आई मुझे तो लगा था कि तुम मुझे भूल ही गए हो। अविनाश और मैं साथ में बैठे हुए थे तो अविनाश की मां कहने लगी कि अब तुम भी घर नहीं आते हो। मैंने आंटी से कहा कि आंटी आपको तो पता ही है कि ऑफिस में कितना काम रहता है मेरी जिंदगी तो सिर्फ घर से ऑफिस और ऑफिस से घर तक ही सीमित रह गई है। इस बात पर आंटी कहने लगी बेटा तुम भी अब शादी कर लो अविनाश की तो हम लोगों ने सगाई करवा दी है यह बात सुनकर मैंने अविनाश की तरफ देखा और अविनाश को कहा कि लेकिन तुमने सगाई कब की? अविनाश कहने लगा दो दिन पहले ही मेरी सगाई हुई है और अब जल्दी पापा और मम्मी मेरी शादी करवाना चाहते हैं। मैंने अविनाश को कहा लेकिन तुम तो मुझे कहते थे कि तुम्हें शादी नहीं करनी है। अविनाश मुझे कहने लगा कि रोहन तुम तो जानते ही हो कि पापा और मम्मी की जिद के आगे मेरी एक नही चलती और भला उनके सिवा मेरा इस दुनिया में है ही कौन इस वजह से मुझे भी उनकी बात माननी पड़ी और जब उन्होंने मुझे सिमरन से मिलवाया तो मुझे सिमरन से मिलकर काफी अच्छा लगा और तुम तो जानते ही हो कि मैं अपने पापा मम्मी की हर बात मान लिया करता हूं।

मैंने अविनाश को कहा की तुम मुझे सिमर की फोटो तो दिखाओ तो अविनाश ने मुझे सीमेंट की फोटो दिखाई। मैंने अविनाश को कहा कि भाभी दिखने में तो बहुत सुंदर है अविनाश मुझे कहने लगा कि सिमरन नेचर की भी बहुत अच्छी है। अविनाश सिमरन की काफी तारीफ कर रहा था, मैं अभी तक सिमरन से मिला नहीं था मैं और अविनाश काफी देर तक बैठे रहे आंटी हम दोनों के लिए चाय बना कर ले आई। मैंने चाय पी और मैंने जब घड़ी में समय देखा तो रात के 9:00 बज चुके थे मैंने अविनाश को कहा कि अविनाश मुझे देर हो रही है मैं तुमसे कल मिलता हूं। अविनाश कहने लगा कि रोहन क्या कल तुम फ्री हो तो मैंने अविनाश को कहा कि हां कल तो मैं फ्री हूं क्योंकि मेरे ऑफिस की कल छुट्टी है। अविनाश मुझे कहने लगा कि कल सुबह मैं तुम्हें फोन करूंगा मैंने अविनाश को कहा ठीक है कल सुबह तुम मुझे फोन कर देना। अविनाश मुझे कहने लगा कि मैं तुमसे कल सुबह फोन पर बात कर लेता हूं उसके बाद मैं अपने घर लौट आया था। घर पहुंचने में मुझे काफी देरी हो गई थी इसलिए मेरे पापा और मम्मी काफी चिंतित थे मेरी बहन भी मेरा इंतजार कर रही थी और वह कहने लगी कि भैया आज आप काफी देर से आ रहे हैं। मैंने उन लोगों को बताया कि मैं आज अविनाश से मिलने के लिए चला गया था इसलिए मुझे आने में देर हो गई। मेरी छोटी बहन रचना मुझे कहने लगी कि भैया क्या अविनाश भैया आजकल घर आए हुए हैं तो मैंने रचना को कहा कि हां अविनाश घर आया हुआ है इसीलिए मैं उससे मिलने के लिए चला गया था। मैं और रचना रात में बैठे हुए थे तो मैंने रचना से पूछा कि तुम्हारे कॉलेज की पढ़ाई कैसी चल रही है। वह मुझे कहने लगी कि भैया मेरे कॉलेज की पढ़ाई तो अच्छी चल रही है लेकिन आप यह बताइए की आप शादी कब करने वाले हैं पापा और मम्मी आज आपकी शादी के बारे में बात कर रहे थे। मैंने रचना से कहा कि अब तुम इस बारे में मुझे बेकार में परेशान मत करो मुझे कुछ देर आराम कर लेने दो। मुझे काफी नींद भी आ रही थी और मैं सो गया रचना भी जा चुकी थी।

अविनाश ने अगले दिन सुबह मुझे फोन किया जब उसने मुझे सुबह फोन किया तो मैंने अविनाश को कहा कि मुझे तुम थोड़ा समय दो मैं अभी अपने किसी काम से बाहर आया हुआ हूं बस थोड़ी देर बाद मैं घर आ जाऊंगा उसके बाद मैं तुमसे मिलता हूं। अविनाश कहने लगा कि मैं तुम्हारे घर पर ही आ जाऊंगा तुम मुझे फोन कर देना। थोड़ी देर बाद जब अविनाश को मैंने फोन किया तो अविनाश मुझे कहने लगा की मैं बस तुम्हारे घर पर आधे घंटे में पहुंचता हूं। अविनाश आधे घंटे में घर पर पहुंच चुका था जब अविनाश घर पर पहुंचा तो मैंने अविनाश को कहा कि क्या तुम कुछ लोगे तो अविनाश कहने लगा नहीं रोहन अभी हम लोग चलते हैं। मुझे नहीं मालूम था कि उस दिन वह मुझे सिमरन से मिलवाने वाला है और उस दिन उसने मुझे सिमरन से मिलवाया, सिमरन से मिलकर मुझे काफी अच्छा लगा वह बातचीत करने में भी बहुत ही अच्छी थी। मैंने अविनाश को कहा कि तुम्हारी पसंद तो बहुत ही अच्छी है और आखिरकार तुम दोनों की जल्द ही शादी हो जाएगी अविनाश इस बात पर शर्माने लगा।

उस दिन हम लोग करीब एक घंटे तक साथ में रहे फिर हम लोग घर वापस लौट आए थे। जल्दी अविनाश और सिमरन की शादी होने वाली थी अविनाश की शादी की सारी तैयारियां उसके पापा मम्मी ने करवा दी थी और जब उस दिन मैं अविनाश की शादी में गया तो मैं बहुत ज्यादा खुश था। शादी के दौरान मै जब सिमरन की सहेली कावेरी से मिला तो मुझे उससे मिलकर बड़ा अच्छा लगा। शादी में हम दोनों के बीच काफी नजदीकियां बढ गई और मुझे तो कभी ऐसा लगा ही नहीं कि कावेरी और मेरे बीच में रिलेशन बन जाएगा। हम दोनों एक दूसरे को डेट करने लगे डेट करने के दौरान ही हम दोनों एक दूसरे के नजदीक आ चुके थे। मुझे कावेरी के साथ समय बिताना बड़ा ही अच्छा लगने लगा वह मेरा साथ पाकर बडी खुश थी और हम दोनों एक दूसरे के साथ अच्छे से रिलेशन को चला रहे थे। कावेरी का मुझ पर काफी भरोसा था इसलिए कावेरी और मैं एक दिन जब मेरे घर पर थे तो मैंने कावेरी से कहा हम लोग आज बाहर से ही कुछ आर्डर करवा लेते हैं पापा मम्मी और मेरी छोटी बहन उस दिन अंबाला गए हुए थे वह लोग दो दिनों बाद वहां से लौटने वाले थे इसलिए कावेरी को मैने घर पर बुला लिया था उसको अच्छे से मालूम था हमारे बीच क्या होने वाला है इसलिए वह पूरी तैयारी के साथ आई थी। मैंने उसको अपनी बाहों में कस कर जकड़ लिया मैंने कावेरी को चूमना शुरू किया तो उसे बड़ा ही अच्छा लगने लगा। वह मुझे कहने लगी रोहन तुम मेरे अंदर की गर्मी को ऐसे ना बढ़ाओ वह अपने कपड़ों को खोलने लगी थी जब मैंने उसकी ब्रा के हुक को खोलते हुए उसके स्तनों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू किया तो उसको बड़ा ही अच्छा लगने लगा। कावेरी मुझे कहने लगी मुझे बड़ा मजा आ रहा है मुझे लग रहा है मैं ज्यादा देर तक रह नहीं पाऊंगा। अभी तो यह शुरुआत थी जैसे ही मैंने उसकी चूत को चाटा तो मैं उसकी चिकनी चूत को अच्छे से चाट रहा था मुझे बहुत ही अच्छा लगने लगा था। जब कावेरी और मैं एक दूसरे के साथ पूरी तरीके से मजे ले रह थे और उसकी चूत से निकलता हुआ पानी बहुत ज्यादा अधिक हो चुका था मुझे बड़ा ही मजा आ रहा था।

कावेरी ने मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर उसे सकिंग करना शुरू कर दिया उसको बड़ा ही अच्छा लग रहा था जब वह मेरे लंड को चूस रही थी और मेरे अंदर की आग को बढ़ाती जा रही थी। मेरे अंदर की आग बहुत ज्यादा बढ़ने लगी थी इसलिए मुझे मजा आने लगा था और कावेरी को भी मजा आने लगा था वह कहने लगी मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा है। मैने कावेरी को कहा मुझसे बिल्कुल भी रहा नहीं जा रहा है मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर लगाते हुए जैसे ही मैंने धीरे धीरे अपने लंड को उसकी योनि के अंदर घुसाना शुरू किया तो उसकी चूत से निकलता हुआ पानी बहुत ज्यादा अधिक हो चुका था। जब उसकी चूत के अंदर बाहर मेरा लंड होता तो वह चिल्लाए जा रही थी। वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा है।

अब मै उसे तेज गति से धक्के मार रहा था और उसकी चूत से निकलता हुआ पानी इतना अधिक होने लगा था कि मुझसे बिल्कुल भी रहा नहीं जा रहा था और ना ही कावेरी अपने आपको रोक पा रही थी। कावेरी मुझसे कहने लगी मुझे बहुत ही ज्यादा अच्छा लग रहा है जब मैंने कावेरी को कहा मैंन तुम्हारे पैरों को खोल लिया है जिस से कि मेरा लंड उसकी चूत के अंदर बहार आसानी से हो रहा था। उसकी योनि के अंदर से खून काफी ज्यादा तेजी से बाहर निकल रहा था उसकी चूत से निकलता हुआ खून अब बहुत ज्यादा बढ चुका था वह मुझे कहने लगी मुझे तुम तेजी से चोदो। मैंने उसे अब और भी तेजी से धक्के देने शुरू कर दिए थे उसका पूरा शरीर हिलने लगा था मेरा माल बाहर की तरफ गिर गया। अब मैंने उसकी चूतड़ों को अपनी तरफ किया जब मैंने उसकी चूतड़ों को अपनी तरफ किया तो वह मुझे कहने लगी मुझे अब बहुत ही अच्छा लग रहा है तुम ऐसे ही मुझे धक्के मारो। मैंने उसकी चूत के अंदर बाहर अपने लंड को करना शुरू कर दिया और काफी देर तक मैं उसको चोदता रहा लेकिन 10 मिनट के बाद मेरे माल की पिचकारी उसकी योनि में गिरी तो वह बहुत खुश हो गई और हम दोनों साथ रात भर चुदाई का मजा लेते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.